KYUN RABBA LYRICS – BADLA | ARMAAN MALIK

222
KYUN RABBA LYRICS - BADLA
KYUN RABBA LYRICS - BADLA

Kyun Rabba Lyrics from Badla feat Amitabh Bachchan & Taapsee Pannu is sung by Armaan Malik. Its music is given by Amaal Mallik and lyrics are written by the lyricist Kumaar.

Kyun Rabba Song Details:

Music Composer: Amaal Mallik
Singer: Armaan Malik
Lyrics: Kumaar

Kyun Rabba – Badla | Amitabh Bachchan | Taapsee Pannu

Kyun Rabba Lyrics in Hindi

दिल हँसते हँसते रो पड़ा
दर्द आसुओं में है बड़ा
दिल हँसते हँसते रो पड़ा
दर्द आसुओं में है बड़ा
टूटी सबसे यारी
मैं तो ज़िन्दगी से हारी
गयी सांसों को दुखा के
कहाँ पे ये हवा

क्यूँ रब्बा इस कदर तोड़ेया वे
के एक टुकड़ा ना छोड़ेया
धड़कने के लिए धडकनों में
कुछ ना बचा

क्यों रब्बा इस कदर तोड़ेया वे
के एक टुकड़ा ना छोड़ेया
धड़कने के लिए धडकनों में
कुछ ना बचा

तोड़ेया वे
तोड़ेया वे
धडकनों ने
तोड़ेया वे

खुद का वजूद खो गया
साया भी पराया हो गया
देखा है तुझको कहीं पे
बोले मेरा आईना

खुद का वजूद खो गया
साया भी पराया हो गया
देखा है तुझको कहीं पे
बोले मेरा आईना

खुदको ना पहचानू
पता खुदा का ना जानू
जाऊं अब मैं कहाँ पे
दिखे ना रास्ता

क्यूँ रब्बा इस कदर तोड़ेया वे
के एक टुकड़ा ना छोड़ेया
धड़कने के लिए धडकनों में
कुछ ना बचा

क्यों रब्बा इस कदर तोड़ेया वे
के एक टुकड़ा ना छोड़ेया
धड़कने के लिए धडकनों में
कुछ ना बचा

दिल का नसीब था बुरा
जो सोचा था वो ना हुआ
दूर से जो वो लगा समंदर
था वो मंज़र रेत का

दिल का नसीब था बुरा
जो सोचा था वो ना हुआ
दूर से जो वो लगा समंदर
था वो मंज़र रेत का

धोखा दे गयी तकदीरें
झूठी निकली लकीरें
करूँ किसपे यकीन समझ में आये ना

क्यूँ रब्बा इस कदर तोड़ेया वे
के एक टुकड़ा ना छोड़ेया
धड़कने के लिए धडकनों में
कुछ ना बचा

क्यों रब्बा इस कदर तोड़ेया वे
के एक टुकड़ा ना छोड़ेया
धड़कने के लिए धडकनों में
कुछ ना बचा

Kyun Rabba Lyrics

Dil Haste Haste Ro Pada
Dard Aasuo Mein Hai Bada
Dil Haste Haste Ro Padaa
Dard Aasuo Mein Hai Bada
Tuti Sabse Yaari
Main Toh Zindagi Se Haari
Gayi Saanso Ko Dukha Ke
Kaha Pe Ye Hawa

Kyun Rabba Is Kadar Todeya Ve
Ki Ik Tukda Na Chodeya Ve
Dhadakane Ki Liye Dhadkano Mein
Kuch Na Bacha
Kyun Rabba Is Kadar Todeya Ve
Ki Ik Tukda Na Chodeya
Dhadakne Ki Liye Dhadkano Mein
Kuch Na Bacha

Todeya Ve… Todeya Ve….
Dhadkano Mein… Todeya Ve…

Khud Ka Bazud Kho Gaya
Saya Bhi Paraya Ho Gaya
Dekha Hai Tujhko Kahi Pe
Bole Mera Aaina
Khud Ka Bazud Kho Gaya
Saya Bhi Paraya Ho Gaya
Dekha Hai Tujhko Kahi Pe
Bole Mera Aaina

Khund Ko Na Pehchanu
Pata Ka Khud Na Jaanu
Jaau Ab Main Kaha Pe
Dikhe Na Raashta

Ki Rabba Iss Qadar Todeya Ve
Ki Ik Tukda Na Chodeya Ve
Dhadakane Ki Liye Dhadkano Mein
Kuch Na Bacha
Ki Rabba Iss Qadar Todeya Ve
Ki Ik Tukda Na Chodeya Ve
Dhadakane Ki Liye Dhadkano Mein
Kuch Na Bacha

Dil Ka Nnaseb Tha Bura
Jo Socha Tha Wo Na Hua
Door Se Jo Laga Samandar
Tha Wo Manjar Ret Ka
Dil Ka Nnaseb Tha Bura
Jo Socha Tha Wo Na Hua
Door Se Jo Laga Samandar
Tha Wo Manjar Ret Ka

Dhoka De Gayi Tadirein
Jhooti Nikli Lakeerein
Karu Kispe Yaqeen
Ye Samjh Mein Aaye Na

Kyu Rabba Is Kadar Todeya Ve
Ki Ik Tukda Na Chodeya Ve
Dhadakane Ki Liye Dhadkano Mein
Kuch Na Bacha
Kyun Rabba Is Kadar Todeya Ve
Ki Ik Tukda Na Chodeya
Dhadakne Ki Liye Dhadkano Mein
Kuch Na Bacha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here